उर्दू के सबसे मशहूर शायर मिर्जा गालिब का आज 220वां जन्म दिन है.मिर्जा गालिब के जन्मदिन के मौके पर गुगल ने डूडल बनाया है.डूडल में मिर्जा गालिब एक हाथ में पेन और एक हाथ में पेपर के साथ नजर आ रहे हैं. वहीं बैकग्राउंड में मुगलकालीन इमारत बानी है.

शायर मिर्जा गालिब का जन्म 27 दिसंबर 1797 में आगरा के एक सैन्य परिवार में पैदा हुये थे . छोटी सी उम्र में गालिब के पिता की मौत हो गई जिसके बाद उनके चाचा ने उन्हें संभाला लेकिन उनका साथ भी ज्यादा दिन नहीं रहा। जिसके बाद उनकी देखभाल उनके नाना-नानी ने की. मिर्जा गालिब का विवाह 13 साल की उम्र में उमराव बेगम के साथ हो गया था.जिसके बाद वह दिल्ली आ गए औऱ यही रहें। मिर्जा गालिब ने इश्क की इबादत हो या नफरत या दुश्मनों से प्यार सभी शायरी में दर्द छलकता है.

मिर्जा गालिब को मुगल शासक बहादुर शाह जफर ने अपना दरबारी कवि बनाया था। उन्हें दरबार-ए-मुल्क, नज्म-उद दौउ्ल्लाह के पदवी से नवाजा था। इसके साथ ही गालिब बादशाह के बड़े बेटे के शिक्षक भी थे। मिर्जा गालिब पर कई किताबें है जिसमें दीवान-ए-गालिब, मैखाना-ए-आरजू, काते बुरहान शामिल है।

15 फरवरी 1869 को गालिब ने आखिरी सांस ली.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here