नई दिल्ली मेट्रो की मजेन्टा लाइन पर मंगलवार को ट्रायल के दौरान ड्राइवर लेस मेट्रो के दीवार से टकराने के मामले में चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है. धुलाई के लिए ले जाते हुए हादसे में कालिंदी कुंज डिपो के प्रभारी सहित चार अधिकारियों को बुधवार को सस्पेंड किया गया. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन यानी डीएमआरसी के मुख्य प्रवक्ता अनुज दयाल ने कहा कि डीएमआरसी के मैनेजिंग डायरेक्टर मंगू सिंह ने कार्यकारी निदेशक स्तर के तीन अधिकारियों की एक टीम द्वारा की गई जांच के आधार पर निलंबन का आदेश दिया.

दिल्ली मेट्रो : मजेन्टा लाइन पर ट्रायल के दौरान दीवार तोड़कर निकली ड्राइवर लेस ट्रेन, पीएम मोदी करने वाले हैं 25 दिसंबर को उद्घाटन

अनुज दयाल ने कहा कि इन चार अधिकारियों में डिपो प्रभारी उपमहाप्रबंधक, एक सहायक प्रबंधक, एक कनिष्ठ अभियंता और एक सहायक खंड अभियंता शामिल हैं. आगे उन्होंने कहा कि ‘जांच की घटना रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि इस घटना के लिए पूरी तरह से मानवीय गलती जिम्मेदार है, क्योंकि उचित प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया गया.’

वहीं, डीएमआरसी ने कहा कि ट्रेन को धुलाई के लिए ले जाते वक्त इसके ब्रेक काम नहीं कर रहे थे. यह ट्रेन बोटैनिकल गार्डन से कालकाजी मंदिर सेक्शन पर चलेगी और इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री द्वारा 25 दिसंबर को किया जाएगा. यह घटना इसलिए हुई क्योंकि डीएमआरसी के नियमों के अनुसार, जब कोई ट्रेन डिपो में आती है तो उसके ब्रेक हटा दिये जाते हैं ताकि ट्रेन और ब्रेक सहित इसकी प्रणालियों की पूरी तरह से जांच हो सके.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here